कबाड़ के दुकान से खरीदा सपनो का महल, जानिए पूरा मामला

viral कबाड़ के दुकान से खरीदा सपनो का महल, जानिए पूरा मामला

कभी-कभी आदमी के पास ऐसे ऐसे आइडियाज होते हैं जिसके बारे में वह खुद ही कल्पना नहीं कर पाता, ऐसा ही कुछ एक ब्रिटेन में रहने वाले युवक ने की। करोना की महामारी के दौरान आर्थिक तंगी से जूझ रहे एक युवक के दिमाग में एक आईडिया है।

करोना के समय ब्रिटेन में जब लॉकडाउन लगा तो एक ल्यूक नाम का युवक जिसकी उम्र 37 साल की थी वह अपने पिता के साथ उनके घर में आकर रहने लगा। परंतु वहां उसे हमेशा एक भय सताता रहता था कि यह करोना उसके घर भी आ सकता है, अतः उन्होंने ब्रिटेन के hereford शहर के एक कबाड़ की दुकान से एक बस खरीदी। लंबे समय से वह अपने घर का किराया दे दे कर थक गए थे।

अतः उन्होंने जो बस खरीदी उसकी कीमत ₹129000 पड़ी, उसका इंजन पूरा जाम था उसको चलाया जा नहीं सकता था, यूट्यूब की सहायता से उन्होंने बस के इंटीरियर पर 847000 से ज्यादा रुपए खर्च किया। दोस्त महीने तक वह इसी बस में रहे इस तरह से उन्होंने ₹200000 भी बचा लिए, अब्बा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी कर रहे हैं तथा घर का किराया भी बचा रहे हैं।

ल्यूक ने बताया कि वह इस बस को खरीदने का फैसला लॉकडाउन से पहले ही कर चुके थे अतः वह अपने पैरंट्स के घर रहने चले गए और पैसे बचाने के इरादे से बस खरीद ली। करोना के बढ़ते मामले को देखते हुए वह चिंतित थे अतः उन्होंने एक सुंदर सी सुरक्षित जगह बनाने की सोची जिससे वह अपने आप को सुरक्षित रख पाते इसी दौरान उन्हें बस मिल गई और इस बस को देखकर उन्होंने एक छोटा सा घर बनाने का विचार किया।

अभी ल्यूक का बस आधा तैयार हुआ था कि तभी ल्यूक की 33 साल की मीडिया प्रड्यूसर निकिशा से मुलाकात हुई। अब यह बस इन दोनों के डेटिंग सपोर्ट भी बन गई है। बस को घर बनाने के अंतिम चरण में निकिशा ने भी उसका साथ दिया। अब वीकेंड में वह उसके साथ यही समय बिताती है।

घर बनने से पहले अगर किसी भी शख्स में इस बस को देखा होता तो शायद यकीन कर पाता कि ऐसा भी हो सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back To Top